जिले के बारे में

जिला गुरुग्राम राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से 30 किलो मीटर दक्षिण में, लगभग10 किलो मीटर दवारका उप शहर से और चंडीगढ़ से 268 किलो मीटर दक्षिण में स्थित है। पिछले 25 वर्षो में शहर में तेज़ी से विकास और निर्माण हुआ है। जिला दिल्ली के प्रमुख उप ग्रह शहरों में से एक है । यह एक्सप्रेसवे और दिल्ली मेट्रो के माध्यम से दिल्ली से जुड़ा है । जिला गुरुग्राम,  हरियाणा राज्य का दूसरा बड़ा शहर है और हरियाणा का उद्योगिकी और वित्तीय केन्द्र है । इसकी प्रति व्यक्ति आय चंडीगढ़ और मुंबई के बाद भारत वर्ष में तीसरे सर्वोच्च स्थान पर है । यह एक मात्र भारतीय शहर है जंहा सभी घरों में सफलता पूर्वक बिजली कनेक्शन वितरित किये गए है । यह आईटी हब है और विभिन बीपीओ कंपनी का भी केंद्र है ।

महाभारत के समय से ही जिला अस्तित्व में है । ऐसा कहा जाता है की युधिस्ठर पांडवो के सबसे बड़े भाई ने अपने गुरु द्रोणाचार्य ने यह गांव दिया, जिनकी टैंक रेलवे रोड के पस्चिम की और मौजद है । वास्तविक गुडगाँव गावं लगभग 1.5 किलोमीटर गुरुग्राम शहर से दूर है, जहाँ शीतला माता का मंदिर, बड़ी संख्या में भक्तों को हर सोमवार और मंगलवार को आकर्षित करता है ।

गुरुग्राम ज़िले के विकास के सभी क्षेत्रों में एक अभुत पूर्व वृद्धि देखि गयी है , विशेष रूप से उद्योग और शहरीकरण में आज यह मल्टीनेशनल कंपनीज, उद्योग दिग्गजः, काल सेण्टर कम्पनिया, शॉपिंग मॉल और गगन चुंबी इमारतों का केंद्र बन गया है ।
गुरुग्राम रणनीतिक रूप से राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली को छूने वाली सीमाओं के साथ स्तिथ है । अन्य राज्यों के साथ दिल्ली-जयपुर-अहमदाबाद ब्रांड गेज रेलवे और एन.एच. 8 द्वारा स्थापित उत्कर्ष संपर्क लिंक हज़ारो लोगो को गुरुग्राम काम, यात्रा और मनोरंजन के उदेश्ये से गुरुग्राम में लता है । मारुती उद्योग और सुजुकी मोटर्स , जापान के सहयोग से प्रारंभिक अस्सी के दशक में गुरुग्राम में तेज़ी से उद्योगिकीकरण के परिणाम स्वरुप जिला अंतर्राष्ट्रीय नक्शे पर आया था । मारुती सुजुकी भारत की सबसे बड़ी  कार कंपनी है । गुरुग्राम का ऑटोमोबाइल उद्योग यात्री कारो , मोटरसाइकिल , स्कूटर और इसके घटको का निर्माण करते है । गुरुग्राम-मानेसर-बवाल बेल्ट देश के ऑटो हब के रूप में उभरा है जो उद्यमियों के पर्याप्त अफसर प्रदान करता है । यहां कई प्रमुख और प्रतिष्ठित इकाइयां है जो दूर संचार के उपकरणों, बिजली के सामान, खेल के सामान, रबर के उत्पादों , तैयार वस्त्र और सॉफ्टवेर विकास में योगदान दे रही है । अन्य उद्योगों में हलके इंजीनियरिंग सामान , फ़र्मिसिटुक्लेस, एग्रो आधारित और खाद्य प्रसंस्करण, चमड़े ,  एयर कंडीशनर, जूते , कीटनाशकों आदि शामिल है । इन क्षेत्रों में मुख्य उद्योगों में कोसको, एनके रबर, पेफेरिटी, हल्दीराम, हफकल, मार्टिन हरिस, टेरी, रैनबैक्सी लैबोरेट्रीज इत्यादि शामिल है । इसके तेज़ी के विकास के साथ , गुरुग्राम हरियाणा में एक महत्वपूर्ण रूप से उभरा और ज़िले की उपलब्धधियों ने राज्य के गौरव को बढ़ावा दिया है ।